2022 Mein Holi Kab Hai इस साल होली कब है सम्पूर्ण जानकारी

Holi 2022 Date In India Calendar: क्या आप जानना चाहते है कि इस साल holi kab hai? तो आपको इस पोस्ट में होली कब है और अन्य सम्बंधित विषयो पर सम्पूर्ण जानकारी मिलेगी।

नया साल आते ही लोग उस साल में आने वाले सभी त्योहारो की तारीखे जानने में उत्सुक रहते है और होली एक ऐसा त्योहार है जो इंडिया में बहुत ही धूम-धाम से मनाया जाता है।

होली के दिन लोग एक दूसरे को रंग लगते है और एक दूसरे के घर जा कर उनको होली की बधाईया देते है। होली के एक दिन पहले होलिका दहन होता है। जिसमे होलिका का दहन किया जाता है मन्यता है की होलिका दहन से सभी बुराई का अंत हो जाता है।

2022 में होली कब है? Iss Saal Holi Kab Hai

Holi kab hai

हिन्दू पंचांग के अनुसार होली का त्योहार फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है।

इस साल होली 18 मार्च को पड़ रही है और होलिका दहन 17 मार्च को जो की हमेशा होली से एक दिन पहले मनाया जाता है। पौराणिक कथाओ के अनुसार होलिका दहन भद्रा काल में अशुभ मन जाता है इसको फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को ही होना चाहिए ऐसी मान्यता है।

Holika Dahan 2022 Time(holika dahan kab hai) : इस साल होलिका दहन का मुहूर्त(holika dahan muhurat) 9 बजकर 03 मिनट से रात 10 बजे 13 मिनट तक का है।

Holi Kab Ki Hai: इंडियन कैलेंडर के अनुसार होली का त्यौहार फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को बनाया जाता है इस बार होली 18 मार्च की है और पूर्णिमा तिथि 17 मार्च दिन में 1:29 से शुरू होकर 18 मार्च दिन में 12:46 पर समाप्त होगी।

Holika Dahan Story In Hindi

Holika Dahan Picture

प्राचीन काल में एक हिरण्यकश्यप नामक असुर राजा हुआ करता था जो बहुत ही अहंकारी और अत्याचारी राजा था वह अपने आपको ईश्वर मानता था और उसके राज्य में ईश्वर का नाम लेना और उनकी पूजा करना भी वर्जित था।

उसकी एक बहन थी जिसका नाम होलिका था और उसे ईश्वर से वरदान प्राप्त था कि वह कभी भी आग में भस्म नहीं हो सकती। मगर हिरण्यकश्यप का पुत्र प्रह्लाद जो बहुत बड़ा विष्णु भक्त था और वह सदैव विष्णु भगवान् के पूजा करता था अपने पिता के राज्य में जहा पर ईश्वर का नाम लेना भी वर्जित था।

हिरण्यकश्यप अपने पुत्र से सदैव क्रोधित रहता था क्युकी वह विष्णु भगवान् का भक्त था। एक दिन उसने अपने पुत्र से तंग आ कर अपनी बहन होलिका को बुलाया और उसको आदेश दिया कि वह प्रह्लाद को गोद में लेकर आग में बैठ जाए।

होलिका ने अपने भाई के आदेश माना और प्रह्लाद को गोद में लेकर आग पर बैठ गयी। लेकिन आग पर बैठने से होलिका जिसको वरदान था कि वह आग में भस्म नहीं हो सकती, जल गयी मगर प्रह्लाद बच गया।

तब से लोग प्रह्लाद के याद में बुराई के ऊपर अच्छी की जीत को होलिका दहन करके मानते है और उसके अगले दिन होली मानते है।

Holi Wishes In Hindi

अब आप यह जान चुके है की इस साल holi kab ki hai तो तैयार हो जाइये अपने मित्रो और परिवार जनो को होली की बधाई देना के लिए।

होली खेलने के साथ साथ आप दुसरो को होली के बधाई देना मत भूलिए। यहाँ पर कुछ होली के बधाइओ(holi wishes) वाले सन्देश है जो आप अपने परिवार जानो और दोस्तों को भेज कर उनको होली की बधाई दे सकते है।

हमेशा मीठी रहे आपकी बोली,

खुशियों से भर जाए आपकी झोली,

आप सबको मेरी तरह से

हैप्पी होली।

चलो आज हम बरसों पुरानी

अपनी दुश्मनी भुला दें।

कई होलियां सूखी गुजर गई

इस होली पर आपस में रंग लगा लें।

राधा का रंग और कान्हा की पिचकारी,

प्यार के रंग से रंग दो दुनिया सारी,

ये रंग न जाने कोई जात न कोई बोली,

मुबारक हो आपको

रंगों से भरी होली।

लाल गुलाबी रंग गुलाल उड़ रहा,

झूम रहा है सारा संसार,

खुशियों की आई है बहार अपार,

मुबारक हो आपको होली का त्योहार।

भगवान करे हर साल चांद बन कर आए, 

दिन का उजाला शान बन के आए, 

कभी ना दूर हो आपके चेहरे से हंसी, 

ये होली का त्योहार ऐसा मेहमान बन कर आए।

सपनों की दुनिया और अपनों का प्यार,

गालों पे गुलाल और पानी की बौछार,

सुख समृद्धि और सफलता का हार, 

मुबारक हो आपको रंगो का त्योहार।

होली की ढेर सारी शुभकामनाएं

निकलो गलियों में बना कर टोली,

भिगो दो आज हर एक की झोली, 

कोई मुस्कुरा दे तो उसे गले लगा लो, 

वरना निकल लो, लगा के रंग और कह के हैप्पी होली।

लाल गुलाबी रंग है, झूम रहा संसार, 

सूरज की किरण, खुशियों की बहार, 

चांद की चांदनी अपनों का प्यार, 

मुबारक हो आपको होली का त्योहार।

सभी रंगों का रास है होली, 

मन का उल्लास है होली

 जीवन में खुशियां भर देती है, 

बस इसीलिए तो खास है होली।

 हैप्पी होली…

मथुरा की खुशबू, 

गोकुल का हार। 

वृन्दावन की सुगंध, 

बरसाने की फुहार.. 

मुबारक हो आपको 

होली का त्योहार।

Holi Kab Ki Hai Date & Time

  • Holi 2022 Date: 18 मार्च
  • Holi Dahan Date: 17 मार्च
  • पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ: 17 मार्च दिन में 1:29
  • पूर्णिमा तिथि समाप्त: 18 मार्च दिन में 12:46

FAQs

यहाँ पर कुछ प्रश्नो के उत्तर है जो लोग आज कल holi kab hai और अन्य सम्बंधित विषयो पर पूछ रहे है:

2022 Mein Holi Kab Hai?

2022 में होली 18 तारीख की है और होलिका दहन इस साल 17 मार्च को है। होली हमेशा फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को बनाया जाता है और इस साल पूर्णिमा तिथि 17 मार्च दिन में 1:29 से शुरू होकर 18 मार्च दिन में 12:46 पर समाप्त होगी।

हिरण्यकश्यप कौन था?

हिरण्यकश्यप एक असुर राजा था जो अपने आपको ईश्वर मानता था और अपने राज्य में ईश्वर की पूजा पर अवरोध लगाया था । हिरण्यकश्यपएक का वध नृसिंह अवतारी विष्णु ने किया था ।

हिरण्यकश्यप के पुत्र का क्या नाम था?

हिरण्यकश्यप के पुत्र का नाम प्रह्लाद था जो भगवान विष्णु का बहुत बड़ा भक्त था ।

इस साल holika dahan kab ka hai?

Holika Dahan हमेशा होली से एक दिन पहले होता है तो इस बार होलिका दहन 17 मार्च को है ।

Holika Dahan muhurat कब का है?

Holika Dahan Muhurat 2022 17 मार्च को 9 बजकर 03 मिनट से रात 10 बजे 13 मिनट तक का है।

निष्कर्ष – Holi Kab Hai

मुझे यकीन है की इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको पता लग गया होगा की is saal holi kab hai. होली की तारीख और समय के साथ-साथ होलिका दहन की कहानी भी आप जान चुके होंगे।

होली भारत का सबसे लोकप्रिय त्योहार है जिसमे लोग अपने दुश्मनी भूल कर सब से गले मिलते है और रंग लगते है। रंगो के साथ साथ होली लोगो के घर तरह तरह के पकवान बनते है।

होली को हम रंगो का त्योहार भी बोलते है। तो सुद्ध जानकारी की टीम की ओर से आपको और आपके परिवार को होली की बहुत बधाई और शुभ कामनाये।

इस आर्टिकल को दुसरो के साथ साझा करना मत भूलिए, धन्यवाद

आपके लिए कुछ अन्य आर्टिकल्स जो आपको शायद पसंद आये:

Leave a Comment